Join us?

विदेश

कौन-सा नारियल है ज्यादा फायदेमंद

नई दिल्ली। हेल्दी डाइट की बात हो तो नारियल का नाम आना जायज है। नारियल के पानी के अनगिनत फायदे तो सभी जानते हैं, लेकिन ज्यादातर लोग इसमें मौजूद मलाई यानी कच्चे नारियल की खासियत नहीं जानते हैं। कई लोग सूखे नारियल को ही बेहतर मानते हैं, लेकिन सच्चाई इसके बिल्कुल उलट है। कच्चे और सूखे नारियल के बीच ढेरों अंतर हैं, जिसकी सही जानकारी जरूरी है क्योंकि फिर उसी अनुसार आप उसका सेवन कर सकते हैं। दोनों ही तरह के नारियल का स्वाद, न्यूट्रिशन, फ्लेवर और टेक्सचर अलग होता है। आइए जानते हैं कि कच्चा या सूखा, किस रूप में नारियल का सेवन है अधिक फायदेमंद-
सूखा नारियल
कच्चे ताजा नारियल को खाने में इसका स्वाद हल्का मीठा और नटी टेस्ट होता है और वहीं, सूखा नारियल खाने में अधिक मीठा और देर तक चबाने वाला होता है। सूखने के बाद नारियल का स्वाद कच्चे नारियल से अलग हो जाता है। नारियल को सुखा कर स्टोर करने में कुछ साधारण सी समस्याएं हैं, जो इसे पानी वाले नारियल से थोड़ा अनहेल्दी बनाती है। पहली बात ये कि सूखे नारियल में पानी नहीं रहता है, जिससे शरीर को हाइड्रेट रखने में इसका कोई महत्व नहीं रह जाता है।
वहीं, नारियल सूखने के बाद इसमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है। इस तरह सूखे नारियल में अधिक शुगर, कैलोरी और फैट पाया जाता है। सूखा नारियल कई दिन तक बिना सड़े रहे, इसके लिए इसमें प्रिजर्वेटिव और वाइटनर डाला जाता है, जो इसे और भी अनहेल्दी बनाता है।
कच्चा नारियल
कच्चे नारियल में ढेर सारे विटामिन और मिनरल पाए जाते हैं। इसमें पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है, जो इसे एक बेहतरीन प्लांट बेस्ड प्रोटीन डाइट का हिस्सा बनाता है। इसमें कैलोरी, हेल्दी फैट और ओमेगा 6 फैटी एसिड पाया जाता है। इसमें पाए जाने वाला अधिकतर फैट सैचुरेटेड होता है। हालांकि, इसमें कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम होती है। नारियल पानी के साथ कच्चा नारियल मिलने की वजह से ये एक अच्छे इलेक्ट्रोलाइट का भी काम करता है और शरीर को हाइड्रेटेड रखता है।
कच्चा नारियल vs सूखा नारियल- क्या ज्यादा बेहतर
सूखे नारियल में मॉइश्चर की कमी के कारण अधिक फैट मौजूद होता है। ताजे कच्चे नारियल की तुलना में सूखे नारियल में कैलोरी की मात्रा ठीक उसकी दुगुनी होती है। इसमें अधिक फैट, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट भी पाया जाता है। सूखे नारियल की शेल्फ लाइफ अधिक होती है और ये कच्चे नारियल की तुलना में अधिक दिन तक अच्छी अवस्था में रहते हैं। हालांकि, पोषक मूल्यों और गुणों के आधार पर कच्चा नारियल ज्यादा फायदेमंद होता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button