क्यों कहा जाता है खाटू श्याम जी को हारे का सहारा 

दानशीलता के कारण बर्बरीक ने बिना किसी सवाल के अपना शीश भगवान श्री कृष्ण को दान दे दिया

दानशीलता के कारण श्री कृष्ण ने कहा कि तुम कलयुग में मेरे नाम से पूजे जाओगे, तुम्हें कलयुग में श्याम के नाम से पूजा जाएगा, तुम कलयुग का अवतार कहलाओगे और 'हारे का सहारा' बनोगे

खाटूश्याम जी में स्थित बाबा श्याम को भगवान कृष्ण का अवतार माना जाता है