Join us?

विदेश

उत्तर कोरिया जाएंगे व्लादिमीर पुतिन

सियोल। दक्षिण कोरिया और संयुक्त राज्य अमेरिका के वरिष्ठ अधिकारियों ने जरूरी फोन कॉल पर बात की है। उन्होंने ये कॉल रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के उत्तर कोरिया आने से पहले की है। दक्षिण कोरिया के उप विदेश मंत्री, किम होंग-क्युन ने अमेरिकी उप विदेश मंत्री कर्ट कैंपबेल के साथ फोन पर कहा कि पुतिन की यात्रा के परिणामस्वरूप संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन करते हुए प्योंगयांग और मॉस्को के बीच गहरा सैन्य सहयोग नहीं होना चाहिए।
पुतिन के दौरे की जताई थी उम्मीद
किम की चिंताओं को दोहराते हुए, कैंपबेल ने यात्रा के कारण संभावित क्षेत्रीय अस्थिरता और चुनौतियों से निपटने के लिए निरंतर सहयोग का वादा किया। सियोल के राष्ट्रपति कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को कहा था कि आने वाले दिनों में पुतिन के उत्तर कोरिया का दौरा करने की उम्मीद है। प्योंगयांग के हवाई अड्डे से नागरिक विमानों को हटा दिया गया है और राजधानी के किम इल सुंग स्क्वायर में संभावित परेड की तैयारी के संकेत हैं। जब रूस के तत्कालीन रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु ने पिछले साल दोनों देशों के बीच संबंधों को बेहतर करने के लिए प्योंगयांग का दौरा किया था, तो वह किम के साथ एक परेड में गए थे और उत्तर कोरिया की प्रतिबंधित परमाणु-युक्त मिसाइलों को सलामी दी थी। अमेरिका ने सात साल में पहली बार दक्षिण कोरिया में अपनी बमबारी ट्रेनिंग के लिए हाल ही में कोरियाई प्रायद्वीप पर बी-1बी बमवर्षक विमान फेंके थे। ये सभी विमान लंबी दूरी के थे इसके बाद दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा था कि अमेरिका के बी-1बी बमवर्षक विमान ने अमेरिका के अन्य और दक्षिण कोरिया के लड़ाकू विमानों के साथ संयुक्त हवाई अभ्यास किए हैं। बी-1बी विमान की खास बात ये कि यह एक बार में 9400 किलोमीटर तक उड़ान भर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
ऑल-टाइम फेवरेट कम्फर्ट इंडियन फिल्में सबसे खूबसूरत झरना प्लिटविस झरना अपने लीवर की कैसे करें सुरक्षा