Join us?

छत्तीसगढ़

इंतजार खत्म, पड़ी हल्की फुहार तेज गर्मी से मिली राहत

रायपुर । राजधानी में मंगलवार की देर शाम हुई। गरज चमक के साथ बारिश ने आम लोगों को तेज गर्मी से राहत दिलाता है। पिछले 15 दिनों से बारिश का इंतजार कर रहे आम लोगों को फिलहाल कुछ राहत मिली है, हालांकि बारिश की उम्मीद लगाए बैठे लोगों को तेज वर्षा का अनुमान था लेकिन हल्की फुहारों से ही संतोष करना पड़ा। वहीं मौसम वैज्ञानिकों ने अनुमान जताया है कि आने वाले दिनों में राजधानी रायपुर सहित अन्य जिलों में तेज बारिश होगी, क्योंकि बीजापुर सुकमा में बना सिस्टम तेजी से प्रदेश के सभी जिलों में बढ़ रहा है, जबकि सूत्र के अनुसार रायपुर से लगे आरंग अभनपुर धरसीवा में जोरदार बारिश हुई है।
बता दें कि जून 15 के बाद बारिश को लेकर संभावना बनने लगती है। लोग बारिश के पूर्व की तैयारी शुरू कर देते हैं। प्रशासन जल भराव रोकने के लिए तैयारी में दिखलाई नहीं लगता है । इस बार 15 जून के पहले बारिश का अनुमान लगाया गया था जिसके चलते लोगों ने बारिश का इंतजार शुरू कर दिया था। वहीं हर रोज तेज गर्मी उमस और पानी की समस्या से लोग परेशान हो रहे थे, ऐसे में इंद्र देवता से लगातार प्रार्थना शुरू कर दी गई थी। देवी मंदिरों में हवन पूजन के कार्यक्रम भी आरंभ होने लगे। ऐसे में हुई बारिश ने फिलहाल राहत दी है। मंगलवार की शाम हुई बारिश का लोगों ने जमकर लुफ्त उठाया और बारिश में ही मजा लेते दिखलाई पड़े । विशेष कर बच्चों में यह क्षण अच्छे लग रहे थे। इधर किसानों ने भी बारिश के बाद खेतों में पानी आने के बाद फसल को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं और कृषि यंत्रों को लेकर तैयार दिखाई दे रहे हैं। मौसम वैज्ञानिकों ने मानसून पहुंचने की सूचना नहीं दी है। वैज्ञानिकों का कहना है कि उच्च दाब के प्रभाव से यह बारिश हुई है जिसमें निरंतर नहीं बनी रहती है। मानसून के प्रभावित होने में एक-दो दिन और लगेंगे जबकि राजधानी के कुछ हिस्सों से ऐसी भी खबरें मिली है कि उन इलाकों में बारिश की बूंदे नहीं गिरी है उन जगहों पर पहले जैसे हालात हैं और लोगों को उमस से परेशान होना पड़ रहा है। कई इलाकों में पानी को लेकर समस्या बनी हुई है।
तापमान में बदलाव
रायपुर में हुई बारिश के बाद मौसम विभाग ने तापमान में बदलाव की बात कही है और तापमान में गिरावट आई है। हालांकि उमस बनी हुई है और चिपचिपाहट वाले वातावरण से लोग परेशान हैं तथा स्वास्थ्य पर लोगों के वितरित असर हो रहा है। यही वजह है कि मौसमी बीमारी के भी जानकारियां अब निकल कर सामने आ रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button