Join us?

खेल

2 जून से खेला जाएगा टी20 वर्ल्ड कप 2024

नई दिल्ली। भारतीय टीम ने अब तक तीन बार आईपीएल के समाप्त होने के तुरंत बाद टी-20 वर्ल्ड कप में भाग लिया है। तीनों बार भारतीय टीम का प्रदर्शन निराशाजनक ही रहा है। 2009, 2010 और 2021 में आईपीएल समाप्त होने के बाद वर्ल्ड कप में टीम हिस्सा लेने गई थी, लेकिन अंतिम चार तक भी नहीं पहुंच सकी थी। यह चौथी बार है जब रोहित शर्मा के नेतृत्व में टीम आईपीएल के एक सप्ताह बाद टी-20 वर्ल्ड कप में भाग लेने जा रही है। दो जून से अमेरिका और वेस्टइंडीज में होने वाले टी-20 विश्व कप को लेकर पुराने तीन प्रदर्शन चिंता का सबब हो सकते हैं।
2009 में आईपीएल 24 मई को समाप्त हुआ और छह जून को भारत ने टी-20 विश्व कप का पहला मैच खेला था। इंग्लैंड में हुए टूर्नामेंट में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारत का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा था। भारत दूसरे दौर में वेस्टइंडीज, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका से हारकर बाहर हो गया था। इस प्रतियोगिता में युवराज सिंह ने भारत की ओर से 122.22 के स्ट्राइक रेट से सर्वाधिक 153 रन बनाए थे। वहीं, प्रज्ञान ओझा ने 6.18 इकोनामी से सात विकेट लिए थे, जहीर खान ने भी 8.38 इकोनामी से सात विकेट झटके थे।
25 अप्रैल को आईपीएल समाप्त हुआ और वेस्टइंडीज में भारतीय टीम ने एक मई को टी-20 विश्व कप का पहला मैच खेला था। इस टूर्नामेंट में भी धोनी भारतीय टीम के कप्तान थे। भारत पहले दौर में अफगानिस्तान और दक्षिण अफ्रीका को मात देने के बाद दूसरे दौर में पहुंचा, लेकिन ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज और श्रीलंका से हारकर प्रतियोगिता से बाहर हो गया। सुरेश रैना ने भारत की ओर से 146 के स्ट्राइक रेट से सर्वाधिक 219 रन बनाए थे। वहीं, आशिष नेहरा ने 7.80 इकोनामी से सर्वाधिक 10 विकेट चटकाए थे।
2021 में पाकिस्तान से हुई थी हार
कोविड-19 के कारण देर से हुआ आईपीएल 15 अक्टूबर को समाप्त हुआ। 24 अक्टूबर को भारत ने दुबई में अपना पहला मैच चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से खेला था, जिसमें टीम को पहली बार किसी विश्व कप में इस टीम से 10 विकेट से हार मिली। इस प्रतियोगिता में भारत के कप्तान विराट कोहली थे और टीम पाकिस्तान के अलावा न्यूजीलैंड से हार गई थी। इसके बाद अफगानिस्तान, स्काटलैंड और नामीबिया से जीत के बावजूद भारतीय टीम सेमीफाइनल में जगह नहीं बना पाई।
इस प्रतियोगिता में केएल राहुल ने 152.75 के स्ट्राइक रेट से भारत की ओर से सर्वाधिक 194 रन बनाए थे। रोहित शर्मा ने भी 151.30 के स्ट्राइक रेट से 174 रन बनाए थे। जसप्रीत बुमराह ने भारत के लिए 5.08 की इकोनमी से सर्वाधिक सात विकेट लिए थे। रवींद्र जडेजा ने भी 5.94 की नकोनामी से सात विकेट चटकाए थे।
2024 में खिलाड़ियों की फॉर्म चिंता का विषय
इस बार आईपीएल फाइनल 26 मई को चेन्नई में खेला जाएगा। हालांकि, इसमें से कई टीमें पहले से ही बाहर हो चुकी हैं जिनके वे खिलाड़ी जो भारतीय टीम में शामिल हैं फ्री हो जाएंगे। इस टी-20 विश्व कप में चयनित भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन चिंता का विषय है। विराट कोहली और जसप्रीत बुमराह के प्रदर्शन को छोड़ दें तो बाकियों ने निराश ही किया है। बुमराह ने 13 मैचों में 6.48 की इकोनामी रेट से 20 विकेट चटकाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button