Join us?

खेल

शेफाली वर्मा ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ जड़ा दोहरा शतक

नई दिल्ली। चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में भारत और साउथ अफ्रीका की महिला क्रिकेट टीमों के बीच टेस्ट मैच खेला जा रहा है। इस मैच का आज पहला ही दिन है और पहले ही दिन टीम इंडिया की ओपनर शेफाली वर्मा ने बड़ा काम कर दिया है। उन्होंने भारतीय महिला क्रिकेट में 22 साल से चले आ रहे सूखे को खत्म कर दिया है। शेफाली ने इस मैच में दोहरा शतक जमाया।
भारत की किसी महिला क्रिकेटर ने इंटरनेशनल स्टेज पर 22 साल बाद दोहरा शतक जमाया है। शेफाली से पहले ये काम भारत की पूर्व कप्तान मिताली राज ने किया था। मिताली ने साल 2002 में इंग्लैंड के खिलाफ दोहरा शतक जमाया था और 214 रनों की पारी खेली थी।
तूफानी पारी खेल हुईं आउट
दोहरा शतक जमाने के बाद हालांकि शेफाली ज्यादा देर टिक नहीं सकीं। वह जेमिमा रोड्रिग्स के साथ रन लेने के कारण हुई गलतफहमी के चलते अपना विकेट खो बैठीं। टकर की गेंद रोड्रिग्स ने खेली दो मिड ऑन पर गई। शेफाली रन लेने में थोड़ी संकोच में थीं और इस बीच गेंदबाज भी उनके रास्ते में आ गई थीं। लेकिन शेफाली ने रन पूरा करने का सोचा। इतने में माल्बा ने कीपर जाफ्ता को थ्रो दी जिन्होंने शेफाली के क्रीज में पहुंचने से पहले ही स्टंप गिरा दिए। शेफाली ने 197 गेंदों का सामना कर 23 चौके और आठ छक्कों की मदद से 205 रन बनाए।
मंधाना के साथ साझेदारी
इस मैच में शेफाली का साथ दिया उनकी सलामी जोड़ीदार स्मृति मंधाना ने। मंधाना ने 161 गेंदों पर 149 रनों की पारी खेली। अपनी इस पारी में उन्होंने 27 चौके और एक छक्का मारा। इन दोनों ने पहले विकेट के लिए 292 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी की। शेफाली और मंधाना ने टेस्ट क्रिकेट में पहले विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी करने के मामले में पाकिस्तान के 20 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। साल 2004 में पाकिस्तान की किरण बलूच और साजिदा शाह ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले विकेट के लिए 241 रन जोड़े थे। शेफाली और मंधाना ने इस स्कोर को पार कर लिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button