Join us?

व्यापार

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता वाली MPC की बैठक 5 से 7 जून तक होगी

नई दिल्ली। इस बार रिजर्व बैंक की आगामी मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक लोकसभा चुनाव के ठीक बाद होगी। लेकिन, इसमें रेट कट जैसी राहत मिलने की कोई खास उम्मीद नहीं है। एक्सपर्ट का कहना है कि मुद्रास्फीति की चुनौती बनी हुई है, ऐसे में मौद्रिक नीति समिति बेंचमार्क ब्याज दर में कटौती से परहेज करेगी। देश में पिछले साल फरवरी से बेंचमार्क ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। यह 6.5 फीसदी के उच्च स्तर पर बरकरार है। हालांकि, आर्थिक विकास में तेजी के बीच रिजर्व बैंक दूसरी चीजों को अभी नजरअंदाज कर सकता है।

ये खबर भी पढ़ें : भारतवंशी सुनीता विलियम्स की अंतरिक्ष यात्रा अंतिम क्षण में टली

कब होगी MPC की मीटिंग?

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता वाली MPC की बैठक 5 से 7 जून तक होगी। आरबीआई अपने फैसले का एलान 7 जून (शुक्रवार) करेगा। वहीं, लोकसभा चुनाव के नतीजे इससे तीन दिन पहले यानी 4 जून को घोषित किए जाएंगे।

ये खबर भी पढ़ें Integration with police to make child helpline effective

केंद्रीय बैंक ने पिछली बार फरवरी 2023 में रेपो दर को बढ़ाकर 6.5 प्रतिशत किया था। तब से पिछली छह द्विमासिक नीतियों में दर को उसी स्तर पर बनाए रखा है। अगर 7 जून को फिर से ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं होता। यह लगातार आठवां मौका होगा, जब RBI बेंचमार्क रेपो दर पर यथास्थिति बनाए रखेगा।

ये खबर भी पढ़ें : रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता वाली MPC की बैठक 5 से 7 जून तक होगी

क्या है एक्सपर्ट की राय

बैंक ऑफ बड़ौदा के मुख्य अर्थशास्त्री मदन सबनवीस ने कहा कि पिछली MPC मीटिंग के बाद से आर्थिक हालात में कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ है। पीएमआई और जीएसटी कलेक्शन जैसे इंडिकेटर दिखाते हैं कि विकास सही दिशा में है।

ये खबर भी पढ़ें : एसईसीएल मुख्यालय के सेवानिवृत्त कर्मियों को भावभीनी विदाई दी गयी

उन्होंने आगे कहा मुद्रास्फीति पर चिंता बनी हुई है, भले ही पिछले आंकड़े 5 प्रतिशत से कम आए हों। भीषण गर्मी ने विशेष रूप से सब्जियों की कीमतों को प्रभावित किया है। वहीं, मौसम विभाग ने सामान्य मानसून का अनुमान जताया है। इन सबसे यही लगता है कि आरबीआई ब्याज दरों में कटौती नहीं करेगा।

ये खबर भी पढ़ें : अनन्या पांडे ने आदित्य संग ब्रेकअप के बीच कही ये बात

एसोचैम के अध्यक्ष संजय नायर का भी कहना है कि केंद्रीय बैंक से आगामी MPC बैठक में रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं करेगा, क्योंकि रिटेल इंफ्लेशन 4 प्रतिशत के लक्ष्य से ऊपर बनी हुई है। उन्होंने कहा, हालांकि मुद्रास्फीति में कमी आ रही है, लेकिन लेकिन सितंबर में मानसून सत्र चीजें पूरी तरह साफ हो पाएंगी।’

ये खबर भी पढ़ें Selection of Gram Panchayat-ward to free the district from malnutrition

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
अखरोट के फायदे सॉफ्ट स्किन के लिए ऐसे तैयार करे गुलाब फेस पैक… मानसून में बिमारियों से बचे, अपनायें ये उपाय…