Join us?

व्यापार

मर्स सेक्टर के स्टार्टअप्स ने पांच सौदों के जरिये 4.83 करोड़ डॉलर जुटाए

नई दिल्ली। इस सप्ताह 17 भारतीय स्टार्टअप्स ने 17 सौदों के जरिये 19.64 करोड़ डॉलर की फंडिंग जुटाई है। यह राशि इससे पिछले सप्ताह के मुकाबले 75 प्रतिशत कम है। इंक42 की एक रिपोर्ट के अनुसार, इससे पिछले सप्ताह भारतीय स्टार्टअप्स ने 21 सौदों के जरिये 80 करोड़ डॉलर से ज्यादा की राशि जुटाई थी। रिपोर्ट के अनुसार, इस सप्ताह गैर-बैंकिग वित्तीय कंपनी (एबीएफसी) नार्दर्न एआरसी ने सबसे ज्यादा 7.5 करोड़ डॉलर की राशि जुटाई है। यह राशि गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर्स (एनसीडी) के जरिये जुटाई गई है। इस सप्ताह फिनटेक सेक्टर ने सबसे ज्यादा निवेशकों को आकर्षित किया है और इस सेक्टर के स्टार्टअप्स ने तीन सौदों के जरिये 7.74 करोड़ डालर की राशि जुटाई है।
ई-कामर्स सेक्टर के स्टार्टअप्स ने पांच सौदों के जरिये 4.83 करोड़ डॉलर और एंटरप्राइजेज टेक स्टार्टअप्स ने तीन सौदों से 2.58 करोड़ डॉलर की राशि जुटाई है। रियल एस्टेट टेक स्टार्टअप ने दो करोड़ डॉलर जुटाए हैं।
भारत के फिनेटक सेक्टर में 30 स्टार्टअप आगे चलकर यूनिकॉर्न बन सकती हैं यानी उनका वैल्यूएशन 1 अरब डॉलर के पार पहुंच सकता है। फिनटेक सेक्टर में कंज्यूमर लेंडिंग सबसे प्रमुख सब-कैटेगरी बनकर उभरी है। हुरून इंडिया की एक रिपोर्ट बताती है कि आने वाले समय में आधे से अधिक फिनटेक यूनिकॉर्न इसी सब-कैटेगरी की होंगी। यूनिकॉर्न की संभावना वाला दूसरा सबसे बड़ा सेक्टर SaaS (सॉफ्टवेयर एज ए सर्विस) है। इसमें 20 स्टार्टअप के यूनिकॉर्न बनने के आसार हैं। SaaS स्टार्टअप्स ने कुल मिलाकर 2.1 अरब डॉलर की फंडिंग जुटाई है। इससे जाहिर होता है कि निवेशकों को इस सेक्टर से भी काफी उम्मीदें हैं। ई-कॉमर्स सेक्टर में आगे चलकर 15 यूनिकॉर्न बन सकते हैं। इनकी कुल वैल्यू फिलहाल 6 अरब डॉलर है। ई-कॉमर्स स्टार्टअप्स ने कुल 2.4 अरब डॉलर जुटाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button