Join us?

खेल

कोलकाता नाइट राइडर्स ने 8 विकेट से हैदराबाद को हराकर जीती तीसरी ट्रॉफी

नईदिल्ली। कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम ने श्रेयस अय्यर की कप्तानी में आईपीएल के 17वें सीजन के फाइनल मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद की टीम को 8 विकेट से मात देने के साथ खिताब को अपने नाम करने में सफलता हासिल की। केकेआर ने आईपीएल के इतिहास में तीसरी बार इस ट्रॉफी को अपने नाम किया है, जिसमें इससे पहले साल 2012 और 2014 में वह आईपीएल ट्रॉफी को जीतने में कामयाब रहे थे। फाइनल मुकाबले में केकेआर की टीम से शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन देखने को मिला जिसमें उन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद की टीम को 18.3 ओवर्स में 113 रनों के स्कोर पर समेट दिया। इसके बाद उन्होंने इस टारगेट को सिर्फ 10.3 ओवर्स में हासिल कर लिया। केकेआर की तरफ से टारगेट का पीछा करते हुए वेंकटेश अय्यर के बल्ले से शानदार पारी देखने को मिली।
वेंकटेश और गुरबाज ने नहीं दिया हैदराबाद को वापसी का कोई मौका
फाइनल मुकाबले में केकेआर टीम के गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के बाद उन्हें अपने बल्लेबाजों से भी ऐसे ही खेल की उम्मीद थी। कोलकाता नाइट राइडर्स टीम की शुरुआत अच्छी नहीं देखने को मिली जिसमें उन्होंने 11 रनों के स्कोर पर अपना पहला विकेट सुनील नारायण के रूप में गंवा दिया जो सिर्फ 6 रनों के निजी स्कोर पर पैट कमिंस का शिकार बने। इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरे वेंकटेश अय्यर ने आक्रामक खेल दिखाने के साथ रहमनुल्लाह गुरबाज के साथ मिलकर पहले 6 ओवर्स में टीम का स्कोर 1 विकेट के नुकसान पर 72 रनों तक पहुंचा दिया। दोनों के बीच इस मैच में दूसरे विकेट के लिए 45 गेंदों में 91 रनों की साझेदारी करने के साथ मैच को पूरी तरह से एकतरफा करने का काम किया। गुरबाज के बल्ले से 39 रनों की पारी देखने को मिली। वहीं वेंकटेश अय्यर इस मैच में टीम को खिताब जिताकर वापस लौटे जिसमें उन्होंने 52 रनों की बेहतरीन पारी खेली। हैदराबाद की तरफ से इस मैच में गेंदबाजी में पैट कमिंस और शहबाज अहमद ने 1-1 विकेट हासिल किया।
स्टार्क और रसेल ने दिखाया गेंद से कमाल
इस मुकाबले में टॉस जीतने के बाद सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने पहले बल्लेबाजी का फैसला किया था, जो पूरी तरह से गलत साबित हुआ, टीम को पहले ही ओवर में अभिषेक शर्मा के रूप में बड़ा झटका लगा जो मिचेल स्टार्क ने दिया। पहले 6 ओवर्स का खेल खत्म होने तक हैदराबाद की टीम ने अपने 3 अहम विकेट गंवा दिए थे। इसके बाद 62 के स्कोर तक आधी टीम पवेलियन लौट चुकी थी। यहां से उनके लिए मुकाबले में बड़ा स्कोर बनाना बिल्कुल भी आसान नहीं था। केकेआर के गेंदबाजों ने लगातार दबाव बनाने के साथ हैदराबाद की पारी को सिर्फ 113 रनों के स्कोर पर ही समेट दिया। केकेआर की तरफ से गेंदबाजी में आंद्रे रसेल ने सबसे ज्यादा 3 विकेट हासिल किए तो वहीं मिचेल स्टार्क और हर्षित राणा ने 2-2 जबकि वैभव अरोड़ा, सुनील नारायण और वरुण चक्रवर्ती 1-1 विकेट लेने में कामयाब रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button