Join us?

व्यापार

सोने की कीमतों में हुई बढ़ोतरी,चांदी में कोई बदलाव नहीं

नई दिल्ली। अखिल भारतीय सर्राफा संघ के अनुसार, आभूषण विक्रेताओं की ताजा खरीदारी के कारण बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी में सोने का भाव 400 रुपये बढ़कर 75,050 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। वहीं, चांदी की कीमतें 94,400 रुपये प्रति किलोग्राम पर स्थिर रहीं।
सोने-चांदी के लेटेस्ट प्राइस
पिछले सत्र में सोना 74,650 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। हालांकि, चांदी की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। एसोसिएशन ने कहा कि सर्राफा बाजारों में सोना पिछले बंद के मुकाबले 400 रुपये बढ़कर 75,050 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार कर रहा था। व्यापारियों ने कहा कि घरेलू मांग बढ़ने से सोने की कीमतों में तेजी देखी गई।
ग्लोबल मार्केट का हाल
अंतरराष्ट्रीय बाजारों में हाजिर सोना 12.60 डॉलर प्रति औंस बढ़कर 2,380.50 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार कर रहा था। एलकेपी सिक्योरिटीज में कमोडिटी और करेंसी के वीपी रिसर्च एनालिस्ट जतिन त्रिवेदी ने कहा कि सोने की कीमतों में सकारात्मक कारोबार हुआ है।गुरुवार शाम को अमेरिका में जारी होने वाले कमजोर मुद्रास्फीति के आंकड़ों की उम्मीदों के कारण खरीदारी बढ़ी, जिससे सितंबर की बैठक में अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा दरों में कटौती की जा सकती है। इसके अलावा, वैश्विक स्तर पर चांदी की कीमतें भी 31.25 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गईं।
शेयरखान बाय बीएनपी पारिबास में एसोसिएट वीपी, फंडामेंटल करेंसीज एंड कमोडिटीज प्रवीण सिंह ने कहा-
फेड चेयर पॉवेल ने अमेरिकी सीनेट बैंकिंग समिति के समक्ष अपनी गवाही में अमेरिकी अर्थव्यवस्था और फेड की मौद्रिक नीति पर काफी हद तक संतुलित दृष्टिकोण पेश किया, जिसके कारण मंगलवार को हाजिर सोना लगभग 0.20 प्रतिशत की बढ़त के साथ 2,363 डॉलर प्रति औंस पर बंद हुआ। अपनी गवाही में फेड चेयर पॉवेल ने कहा कि मुद्रास्फीति की प्रवृत्ति उत्साहजनक है। हालांकि, अमेरिकी केंद्रीय बैंक को दरों में कटौती करने में विश्वास हासिल करने के लिए और अधिक डेटा की आवश्यकता होगी। उन्होंने चेतावनी दी कि ब्याज दरों में बहुत कम या बहुत देर से कटौती करने से अर्थव्यवस्था और श्रम बाजार को जोखिम हो सकता है, क्योंकि मुद्रास्फीति ही एकमात्र जोखिम नहीं है जिसका सामना अमेरिकी अर्थव्यवस्था को करना पड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button