Join us?

व्यापार

Business News: एचडीएफसी बैंक का Q4 में मुनाफा उम्मीद से कम रहा

मुंबई। देश के सबसे बड़े प्राइवेट बैंक एचडीएफसी बैंक ने शनिवार को अपना वित्त वर्ष 2023-24 की चौथी तिमाही का नतीजा पेश कर दिया। एचडीएफसी बैंक का Q4 में मुनाफा उम्मीद से कम रहा, क्योंकि इसने संभावित बैड लोन के लिए प्रोविजन बढ़ा दिया है। हालांकि, इसका लेंडिंग मार्जिन स्टेबल है। मतलब कि बैंक के पास अच्छी खासी संपत्ति है।
HDFC bank अपने सेक्टर से रिजल्ट का एलान करने वाला पहला बैंक है। इसे जनवरी-मार्च तिमाही में 165.12 अरब रुपये का नेट प्रॉफिट हुआ है। हालांकि, एनालिस्टों का अनुमान था कि बैंक को 173.15 अरब रुपये का मुनाफा होगा। एचडीएफसी बैंक पिछले साल जुलाई में अपनी पैरेंट कंपनी हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्प से मर्ज हो गया था। मतलब कि अभी इसके रिजल्ट की सालाना आधार पर तुलना नहीं की जा सकती।
समीक्षाधीन तिमाही में एचडीएफसी बैंक की कोर नेट इंटरेस्ट इनकम बढ़कर 29,080 करोड़ रुपये हो गई। वहीं, अन्य आय बढ़कर 18,170 करोड़ रुपये हो गई। लेंडर्स ने कुल संपत्ति पर अपना कोर नेट इंटरेस्ट मार्जिन 3.44 प्रतिशत बताया है। वहीं, ग्रॉस नॉन-परफॉर्मिंग एसेट रेशियो 1.24 प्रतिशत पर आ गया।
एचडीएफसी बैंक के शेयरों का हाल
HDFC bank के पिछले कुछ वर्षों में अपने निवेशकों को काफी निराश किया है। शुक्रवार (19 अप्रैल) को एचडीएफसी बैंक के शेयर 2.64 प्रतिशत चढ़कर 1,534.20 रुपये बंद हुए। हालांकि, बैंक ने पिछले 6 महीने में सिर्फ 1.87 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। अगर पिछले एक साल की बात करें, तो इन्वेस्टर्स को अपने निवेश पर 8.38 प्रतिशत का नुकसान उठाना पड़ा है।
पिछले पांच साल का आंकड़ा देखने पर भी सूरतेहाल कमोबेश इसी तरह के हैं। इस दौरान एचडीएफसी बैंक ने सिर्फ 35 प्रतिशत रिटर्न दिया है। वहीं, आईसीआईसीआई बैंक जैसे दूसरे प्राइवेट लेंडर से निवेशकों ने 5 साल में 163 प्रतिशत का मुनाफा कमाया है। यहां तक कि SBI जैसे सरकारी बैंक ने भी पांच साल निवेशकों 140 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
अखरोट के फायदे सॉफ्ट स्किन के लिए ऐसे तैयार करे गुलाब फेस पैक… मानसून में बिमारियों से बचे, अपनायें ये उपाय…