Join us?

देश

सिक्किम में फंसे पर्यटकों को निकालने में सेना और वायुसेना ने संभाला जिम्मा

गंगटोक। सिक्किम में बुधवार रात की भारी बारिश और भूस्खलन की वजह से सड़क मार्ग टूट जाने के बाद फंसे 1200 से अधिक पर्यटकों को निकालने में खराब मौसम अभी भी बाधा बना हुआ है। वायुसेना ने शनिवार को फंसे पर्यटकों को निकालने को लेकर अपनी ओर से पूरी तैयारी तो की, लेकिन बचाव अभियान अभी शुरू नहीं हो पाया है। गंगटोक में मौसम विभाग के निदेशक गोपीनाथ राहा ने कहा कि उत्तरी सिक्किम में अभी भी बारिश हो रही है। काले बादलों की वजह से घना कोहरा जैसी स्थिति है। अगले पांच से छह दिनों तक मौसम ऐसा ही रह सकता है। इस बीच कुछ पर्यटक गंगटोक से सड़क मार्ग से सिलीगुड़ी पहुंचे।
सेना के जवान फंसे पर्यटकों की मदद कर रहे
गंगटोक से सिलीगुड़ी को जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग 10 भी कई स्थानों पर भूस्खलन की वजह से बाधित है। सिक्किम सरकार ने वायुसेना से विभिन्न स्थानों पर फंसे पर्यटकों को हवाई मार्ग से निकालने का अनुरोध किया था। शिलांग में वायुसेना की पूर्वी कमान ने कोलकाता में वायुसेना के अग्रिम मुख्यालय के साथ चर्चा शुरू कर दी है। सेना के प्रवक्ता कर्नल अंजनकुमार बसुमतारी ने कहा कि सेना के जवान फंसे पर्यटकों की मदद कर रहे हैं।
इस बीच मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तामांग ने प्रभावित इलाके का दौरा किया। तामांग ने सभी मंत्रियों और विधायकों को पीडि़तों की मदद के लिए मैदान में उतरने का आदेश दिया है। सिक्किम के पर्यटन मंत्री शेरिंग थेंडुप भूटिया ने कहा कि भूस्खलन के कारण उत्तरी सिक्किम का राजधानी गंगटोक से सड़क संपर्क पूरी तरह टूट गया है।
सिक्किम में भूस्खलन से पानीपत के परिवार के तीन बच्चों समेत नौ सदस्य फंसे
सिक्किम में भारी वर्षा के बाद हुए भूस्खलन के कारण सैकड़ों सैलानियों के साथ पानीपत और रोहतक के परिवार के तीन बच्चों समेत नौ लोग फंस गए हैं। शहर के विराट नगर निवासी हरीश कालड़ा की बेटी शिवानी पिछले शनिवार को गर्मी की छुट्टियां मनाने पति, दो बच्चों और परिवार के पांच अन्य सदस्यों के साथ पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग और सिक्किम घूमने गई थी।दार्जिलिंग से लौटते समय सिक्किम में भारी बारिश के कारण भूस्खलन हो गया। सड़कें बह गई हैं। गुरुवार को गुरुद्वारे के सेवादार के फोन से परिवार की यहां हरीश कालड़ा से बात हुई थी। इसके बाद से कोई संपर्क नहीं हुआ है। शनिवार को शहरी विधायक प्रमोद विज ने मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी से बात की। मुख्यमंत्री ने गृह मंत्रालय से संपर्क कर परिवार को सुरक्षित निकाल घर पहुंचाने में मदद करने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button