Join us?

खेल

9 जून को भारत-पाकिस्तान के बीच खेला जाएगा महामुकाबला

न्यूयॉर्क। अमेरिका में पहली बार क्रिकेट विश्व कप हो रहा है, लेकिन यहां पर ऐसी अभूतपूर्व सुरक्षा की गई है जैसी आपको दुनिया के सबसे बड़े खेल आयोजनों ओलिंपिक और फुटबॉल विश्व कप में भी देखने को नहीं मिलती है। न्यूयार्क की नसाऊ काउंटी स्टेडियम में मैच के दिन पहुंचना बहुत कठिन काम है। आम प्रशंसक की बात तो छोडि़ए, दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका के मैच के पहले मीडिया पार्किंग पास होने के बावजूद हम लोगों को अपने गेट के पास पहुंचने में पसीने छूट गए। सोमवार को मैच से पहले जब हम आइजनहवर पार्क के पास पहुंचे तो न्यूयार्क पुलिस ने हमें एक तरफ जाने को इशारा किया तो लगा कि हम आसानी से पहुंच जाएंगे, लेकिन कुछ किलोमीटर चलने के बाद और स्टेडियम से करीब दो किलोमीटर पहले तीन अलग-अलग पुलिसकर्मियों ने एक ही पार्किंग पास को बार-बार चेक किया। जब हम आइजनहवर पार्क के अंदर घुसे तो कुछ दूर बाद पुलिस का पहला चेक पोस्ट आया जिसमें मीडिया एक्रीडिटेशन, कार पास और बैग चेक किया गया।
उसके बाद दूसरे चेक पोस्ट पर फिर से मीडिया पास, कार पास और मशीन से टैक्सी को चेक किया गया। पार्किंग में टैक्सी ने ड्राप किया और फिर हम चलकर मीडिया गेट पर पहुंचे तो फिर से प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड ने हमारा कार्ड और बैग चेक किया गया। फिर हम मेटल डिटेक्टर से गुजरे और उसके बाद सारे पत्रकारों को बैग किनारे रखने को कह दिया गया। इसके बाद स्निफर डाग ने आकर बैग सूंघा। फिर एक पुलिस कर्मी ने बैग की एक-एक चैन खोलकर देखी। इसके बाद पत्रकार मीडिया बाक्स तक पहुंच सके।
दो हेलीकाप्टर आसमान में लगातार गश्त लगा रहे
बाकी प्रशंसकों का भी कुछ ऐसा ही हाल रहा। नसाऊ काउंटी के एक्जक्यूटिव ब्रूस ए. ब्लैकमैन से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि हम किसी भी तरह की परिस्थितियों से निपटने के लिए तैयार हैं। यह हमारे लिए बहुत बड़ा आयोजन है। मैच के दौरान दो हेलीकाप्टर आसमान में लगातार गश्त लगा रहे थे। मालूम हो कि नसाऊ काउंटी पुलिस विभाग 3-12 जून के बीच इस मैदान पर आयोजित होने वाले आठ मैचों को बिना किसी घटना के संपन्न कराने के लिए बारीकी से निगरानी कर रहा है। यहां नौ जून को भारत और पाकिस्तान के बीच महामुकाबला भी होना है। आईएसआईएस समर्थक समूह ने इस टी20 विश्व कप को निशाना बनाने की धमकी दी थी।
भारत-पाकिस्तान मैच में तगड़ी सुरक्षा
सूत्रों के मुताबिक इन मैचों के लिए स्नाइपर्स और स्वाट टीमों के अलावा, मैदान के अंदर सिविल ड्रेस में भी पुलिस अधिकारी तैनात हैं। नारकोटिक्स डिवीजन के अधिकारी 24 घंटे चार ड्राप-इन पिचों की निगरानी कर रहे हैं। नसाउ के पुलिस बल ने संघीय जांच ब्यूरो, यूएस डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी, न्यूयॉर्क पुलिस विभाग और अन्य एजेंसियों के साथ मिलकर काम किया है। मैच के दिनों में ड्रोन हमले के किसी भी संभावित खतरे को कम करने के लिए मैदान के पास भी कड़े नियम लागू किए गए हैं। स्टेडियम के अंदर जाने से पहले प्रशंसकों की तलाशी ली जा रही है और स्टेडियम में प्रवेश करने से पहले उन्हें एयरपोर्ट-स्टाइल सुरक्षा स्कैनर से गुजरना पड़ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
अखरोट के फायदे सॉफ्ट स्किन के लिए ऐसे तैयार करे गुलाब फेस पैक… मानसून में बिमारियों से बचे, अपनायें ये उपाय…